बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
March 4, 2024
राजनीति राष्ट्रीय

प्रभु की महिमा, लोहानी बने रेलवे बोर्ड के नए अध्यक्ष

  • August 24, 2017
  • 0 min read
प्रभु की महिमा, लोहानी बने  रेलवे बोर्ड के नए अध्यक्ष

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने अश्विनी लोहानी को रेलवे बोर्ड के नए अध्यक्ष के रूप में नियुक्त करने को लेकर उनके सुझावों से सहमति जताने के लिए गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया। प्रभु ने ट्वीट कर कहा, “अश्विनी लोहानी का स्वागत करता हूं और नई परियोजनाओं को क्रियान्वित करने के लिए लोहानी को नया अध्यक्ष नियुक्त करने के सुझावों को स्वीाकर करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार जताता हूं।”

लोहानी को ए.के.मित्तल की जगह रेलवे बोर्ड का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। मित्तल ने उत्तर प्रदेश के ओरैया जिले में रेल हादसे के बाद पद से इस्तीफा दे दिया था। प्रभु के बुधवार को मोदी से मिलने के कुछ घंटों बाद ही लोहानी की नियुक्ति का ऐलान किया गया। प्रभु ने भी उत्तर प्रदेश के ओरैया जिले में रेल हादसे के बाद इस्तीफे की पेशकश की थी। प्रभु के अनुसार, मोदी ने उन्हें ‘इंतजार’ करने को कहा।

रेलवे बोर्ड के नवनियुक्त अध्यक्ष अश्विनी लोहानी ने गुरुवार को पदभार संभालने के बाद कहा कि ट्रेन यात्रियों की सुरक्षा रेलवे की सर्वोच्च प्राथमिकता है। रेल मंत्रालय ने लोहानी को कल रेलवे बोर्ड का अध्यक्ष नियुक्त किया। बता दें कि लोहानी के पूर्ववर्ती ए. के. मित्तल ने पांच दिन के भीतर दो ट्रेन दुर्घटना होने के बाद पद से इस्तीफा दे दिया था। लोहानी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हां, सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। स्वच्छता, स्टेशनों की बेहतरी और भ्रष्टाचार तथा वीआईपी संस्कृति को खत्म करने आदि पर भी ध्यान दिया जाएगा।’’ उन्होंने कहा कि यह मेरे लिये भावनात्मक क्षण है। बहुत सारी आशाएं हैं और रेलवे सुधार के लिए कड़ी मेहनत करेगा। रेलवे मकैनिकल सेवा के अधिकारी लोहानी पहले दिल्ली में डीआरएम रह चुके हैं।

गौरतलब है कि बुधवार को ओरैया जिले में कैफियत एक्सप्रेस के 12 डिब्बे बेपटरी हो गए थे, जिसमें 74 लोग घायल हो गए थे। इससे पहले शनिवार को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के पास कलिंग उत्कल एक्सप्रेस भी पटरी से उतर गई थी, जिसमें 22 लोगों की मौत हो गई थी और 150 से अधिक लोग घायल हो गए थे।