बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
February 24, 2024
अन्य राज्य दिल्ली-एनसीआर ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति राष्ट्रीय

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले-घमंडी हैं मोदी, किसानों के मुद्दे पर हो गई थी लड़ाई

  • January 4, 2022
  • 1 min read
मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले-घमंडी हैं मोदी, किसानों के मुद्दे पर हो गई थी लड़ाई

मेघालय। मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक रविवार को चरखी दादरी पहुंचे. इस दौरान उन्होंने चरखी दादरी रेस्ट हाउस में लोगों से बातचीत की। इस बातचीत में राज्यपाल सत्यपाल मलिक एक बार फिर किसानों के पक्ष में उतरे। उन्होंने कहा कि किसानों पर अगर कोई आंच आएगी तो वे राज्यपाल तो क्या, कोई भी बड़ा पद होगा तो तुरंत छोड़ देंगे। उन्होंने कहा कि किसानों व समाज के लिए हमेशा तत्पर रहा हूं और हमेशा अग्रणी खड़ा मिलूंगा। वहीं उन्होंने किसानों को लेकर पीएम मोदी पर बड़ा और गंभीर आरोप लगाया।

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बताया कि एक बार वो किसानों की मौत की चर्चा करने के लिए पीएम मोदी से मुलाकात करने पहुंचे। मलिक के मुताबिक पांच मिनट की मुलाकात में ही उनकी पीएम से लड़ाई हो गई। उन्होंने किसानों की मौत का मुद्दा पीएम के सामने उठाया. सत्यपाल मलिक ने कहा कि पीएम काफी घमंड में थे। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने उन्हें जवाब दिया कि कुत्ता भी मरता है तो चिट्ठी लिख देते हो। इसके बाद पीएम मोदी ने उन्हें गृह मंत्री अमित शाह से बात करने के लिए कह दिया।

उन्होंने कहा कि ”मैं जब किसानों के मामले पर प्रधानमंत्री से मिलने गया तो मेरी पांच मिनट में लड़ाई हो गई। वो बहुत घमेंड में थे। जब मैंने उनसे कहा हमारे 5 सौ लोग मर गए तो बोले तुम तो कुतिया मरती है तब भी चिट्ठी भेजते हो। उन्होंने कहा मेरे लिए मरे हैं? मैंने कहा आपके लिए तो मरेंगे। आप राजा बने हुए हो उनकी वजह से। खैर उन्होने कहा तुम अमित शाह से मिलो। मैं अमित शाह से मिला तो उन्होंने कहा सतपाल इसकी अकल मार रखी है लोगों ने तुम बेफिक्र रहो। मिलते रहो। ये किसी ना किसी दिन समझ में आ जायेगा।”

किसानों के प्रदर्शन पर सत्यपाल मलिक ने आगे कहा कि के सरकार को अब इमानदारी बरतते हुए तुरंत दर्ज केसों को रद्द करके एमएसपी को कानूनी रूप देना होगा। क्योंकि किसान आंदोलन समाप्त नहीं हुआ बल्कि स्थगित हुआ है, अगर किसानों की मांगे नहीं मानी गई तो फिर से आंदोलन हो सकता है। उन्होंने कहा कि कृषि कानून रद्द होना किसानों की बड़ी जीत है, एमएसपी को लेकर भी किसान एकजुट रहेंगे।