बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
June 24, 2024
उत्तर प्रदेश

वाराणसी-हण्डिया राजमार्ग पर फ्लाईओवर के निर्माण में यातायात को बाधित करना अपराध की श्रेणी में होगी कार्यवाही– कमिश्नर डॉ. आशीष कुमार गोयल

  • November 17, 2017
  • 1 min read
वाराणसी-हण्डिया राजमार्ग पर फ्लाईओवर के निर्माण में यातायात को बाधित करना अपराध की श्रेणी में होगी कार्यवाही– कमिश्नर डॉ. आशीष कुमार गोयल

शशांक मिश्रा:-

कुम्भ 2019 के दृष्टिगत इलाहाबाद प्रशासन यातायात की सुगम आयोजन को किया जाना प्रमुख कार्य माना जा रहा है। जिसके चलते जहां एक ओर कई फ्लाईओवर बन रहे हैं वही नगर के मध्य एवं बाहरी क्षेत्रों में सड़कों का चौड़ीकरण कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। प्रशासन इस व्यवस्था पर अत्यन्त सजग है कि आगमी माघ एवं कुम्भ मेला की अवधि तक इलाहाबाद को सीमावर्ती जनपदों से जोड़ने वाली सड़कों को भी चालू एवं सुगम यातायात के दृष्टि से सुनिश्चित रखने पर विचार कर रहा है।

इलाहाबाद जनपद के सीमावर्ती जनपदों मिर्जापुर, वाराणसी, प्रतापगढ़, जौनपुर, रायबरेली, कौशाम्बी, फतेहपुर और कानपुर के अलावा म.प्र. से आने वाले राष्ट्रीय राजमार्गो पर मेला और कुम्भ के दौरान आवागमन निर्बाध रूप से चलता रहे इस संभावना पर मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल ने अपने कार्यालय स्थित गांधी सभागार में सभी जनपदों से सम्बन्धित राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के प्रमुख अधिकारियों को बुलाकर विचार विमर्श किया तथा यह कड़ी हिदायत दी कि एक माह बाद शुरू होने वाले माघ मेले से लेकर कुम्भ मेला अवधि तक किसी भी हालत में इलाहाबाद को सीमावर्ती जनपदों से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्गो की चौड़ाई को कम न होने दिया जाय। राजमार्ग के संचालन क्षेत्र के अलावा किनारे के सोल्डर भी इस अवधि में क्षतिग्रस्त न किये जाये तथा इन सड़कों का चौड़ीकरण किये जाने तथा इन पर फ्लाईओवर बनाये जाने की प्रक्रिया में किसी भी प्रकार मेला अवधि तक बाधा न आने दी जाय।

मण्डलायुक्त ने कहा कि इसके चौड़ीकरण अथवा फ्लाईओवर के निर्माण का कार्य या तो अक्टूबर 2018 तक हर हाल में पूरा कर लिया जाये या इस चालू हालत में राष्ट्रीय राजमार्ग पर इस अवधि में खुदाई न की जाय। मण्डलायुक्त ने इलाहाबाद को जोड़ने वाले सभी राजमार्गो पर हो रहे तथा प्रस्तावित कार्यो की क्रमवार समीक्षा की । जिसमे हण्डिया से वाराणसी तक राजमार्गो को 6 लेने को चौडा किये जाने कि प्रक्रिया को कुम्भ के पूर्व पूरा कर लेने तथा इस पूरी अवधि के दौरान वर्तमान चार लेने की सड़क की पूरी चौड़ाई के साथ संचालित किये रखने की कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिया। मण्डलायुक्त ने इस राजमार्ग पर पांच फ्लाईओवर, 6 अण्डरपास बनाकर सड़क को 6 लेन को चौडा किये जाने की कार्ययोजना की प्रगति देखी तथा 70 किमी के क्षेत्र में 20 किमी ऐलिवेटेड एरिया पर बनने वाले फ्लाईओवर के निर्माण को कुम्भ अवधि तक अधूरा न रखने की हिदायत देते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को कडी चेतावनी दी कुम्भ के दौरान इस सड़क पर प्रदेश के पूर्वान्चल और देश के पूर्वात्तर राज्यों से भारी संख्या में वाहन तथा यात्री इलाहाबाद आते है। क्षेत्रिय जनता को आवागमन का भी यह सबसे प्रधान राजमार्ग है। अतः इस पर यातायात को कुम्भ अवधि तक निर्बाध संचालित रखना प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। यदि इस राजमार्ग पर अधूरे निर्माण की वजह से यात्रियों को किसी भी तरह की असुविधा हुयी तो यह अत्यन्त आपत्तिजनक एवं गम्भीर स्थिति होगी तथा इसके लिए जिम्मेदारो के खिलाफ कडी से कड़ी कार्रवाही करने में नही हिचकेंगे।

इसी प्रकार रायबरेली इलाहाबाद के राष्ट्रीय राजमार्ग पर कुण्डा के पास रेलवे क्रासिंग, नवाबगंज के पास सड़कों पर गढ्ढे को गम्भीरता से संज्ञान लेते हुए मण्डलायुक्त ने राष्ट्रीय राजमार्ग ने सम्बन्धित अधिकारियों को फटकार लगायी तथा इस पर पेचवर्क का कार्य 15 दिन में पूरा करने को कहा। एनएच 27 पर कार्य 31 जनवरी तक पूरा कर लिये जाने तथा एनएच-ई इलाहाबाद मिर्जापुर का भी काम को कुम्भ के पूर्व पूरा करते हुए चौड़ीकरण किये जाने का निर्देश मण्डलायुक्त ने दिया। एनएच के अभियन्ताओं के द्वारा अवगत कराया गया कि इस कार्य में सड़क पर चौड़ीकरण के कार्य मे भूमि की समस्या बतायी गयी जिस पर मण्डलायुक्त ने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देशित किया। वहां उपस्थित एसएसपी आकाश कुलहरि ने भी राजमार्ग के अधिकारियों को आश्वस्त किया कि निर्माण कार्य में किसी प्रकार की कानून व्यवस्था की समस्या पर सीधे उनसे सम्पर्क किया जा सकता है।

इसी प्रकार मऊआइमा में 400 मीटर के दो फ्लाईओरवरों का निर्माण किये जाने के लिए मण्डलायुक्त ने एनएच के अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि वे अपनी औपचारिक गति से तीन साल में काम पूरा कर लेने की प्रवृति होने के तथा कुम्भ तक कार्य में हर हाल में पूरा कर लेने का हेतु पर्ट चार्ट बनाकर उसी के अनुसार कार्य किये जाये। अन्यथा की स्थिति में या हीलाहवाली किये जाने पर राष्ट्रीय राजमार्ग केअध्यक्ष को कार्य में ढिलाई के बारे में अवगत कराते हुए उत्तरदायी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाही प्रस्तावित की जायेगी।