बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
May 26, 2024
उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश

सामूहिक विवाह में अलीगढ़ के 495 जोड़े शादी के बंधन में बंधे

  • December 12, 2021
  • 1 min read
सामूहिक विवाह में अलीगढ़ के 495 जोड़े शादी के बंधन में बंधे

अलीगढ़। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शनिवार को 495 जोड़े विवाह बंधन में बंध गए। इनमें 453 हिंदू एवं 42 मुस्लिम जोड़े शामिल रहे। एमएलसी ठा.जयवीर सिंह व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष उपेंद्र सिंह नीटू भी विवाह समारोह के साक्षी बने। उन्होंने सभी जोड़ों को आशीर्वाद देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

खैर रोड पर जमालपुर के निकट अभिमन्यु एन्क्लेव में हुए कार्यक्रम में एमएलसी ठा. जयवीर सिंह ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ गरीब एवं समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्तियों तक पहुंचाया जा रहा है। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के माध्यम से जन प्रतिनिधियों व अधिकारियों की उपस्थिति में कन्यादान का कार्य करते हुए जोड़ों को लाभान्वित किया जा रहा है। सामूहिक विवाह दहेज प्रथा एवं बालविवाह जैसे शापित कुरीतियों से मुक्ति दिलाते हैं। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष उपेंद्र सिंह नीटू ने कहा कि योजना के माध्यम से प्रदेश सरकार की कोशिश है कि गरीब कन्याओं का विवाह सम्मानजनक तरीके से हो।

जिला समाज कल्याण अधिकारी मनीष वर्मा ने बताया कि शनिवार को 495 जोड़ों का विवाह उनके धर्म की रीति रिवाज के अनुसार संपन्न कराया गया है। इनमें 42 मुस्लिम एवं 453 हिंदू समुदाय के जोडे़ हैं।
कार्यक्रम का शुभारंभ एमएलसी ठाकुर जयवीर सिंह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष उपेंद्र सिंह नीटू, ब्लाक प्रमुख जवां, गोंडा, अतरौली, इगलास एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया। प्रति जोड़ा 51000 रुपये का खर्च आया।

दुल्हन के बैंक खाते में 35000 रुपये जमा कराए गए। दस हजार रुपये का सामान दिया गया। 6000 रुपये भोजन व्यवस्थाओं आदि पर व्यय किया गया। इस मौके पर ब्लाक प्रमुख जवां हरेंद्र सिंह, ब्लाक प्रमुख इगलास अनूप फौजी, ब्लाक प्रमुख गोंडा नरेंद्र सिंह, ब्लाक प्रमुख पति केहरी सिंह सहित अन्य पार्टी पदाधिकारी एवं अधिकारी उपस्थित रहे।

खैर बाईपास स्थित अभिमन्यु एन्क्लेव में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत 87 जोड़े एक-दूजे के हो गए। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत 116 जोड़ों ने रजिस्ट्रेशन कराया था, जिसमें से 87 जोड़ों का विवाह कराया गया। नगर निगम में पंजीकृत 14 मुस्लिम जोड़ों का निकाह एवं 73 जोड़ों ने सात फेरे लिए। नगर आयुक्त गौरांग राठी ने परिणय सूत्र में बंधे जोड़ों को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि सरकार की सराहनीय योजना है।

इस मौके पर अपर नगर आयुक्त अरुण कुमार गुप्त, उप नगर आयुक्त राजकिशोर, सहायक नगर आयुक्त ठाकुर प्रसाद, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी विनय कुमार राय, मनोज कुमार प्रभात, आरपी सिंह, राजेश कुमार, प्रवीण सिंह, अरुण प्रताप, अब्दुल रहीम अंसारी, राकेश बाबू टार्जन, एहसान रब, तरुण मोहन पाठक, कुसुम, साधना सक्सेना, निशा शर्मा आदि ने वर वधू को आशीर्वाद दिया।