बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
June 20, 2024
उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय

#Aligarh पुलिस को मिली बड़ी सफलता, धोखाधड़ी से ATM से निकालते थे रुपये, हवाई जहाज में करते थे यात्रा

  • August 28, 2018
  • 1 min read
#Aligarh पुलिस को मिली बड़ी सफलता, धोखाधड़ी से ATM से निकालते थे रुपये,  हवाई जहाज में करते थे यात्रा

अलीगढ़ । सिविल लाइन पुलिस ने लोगों के साथ धोखाधड़ी करने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है । थाना सिविल लाइन पुलिस ने मदद के बहाने एटीएम कार्ड बदलकर खाते से रुपये निकालने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश कर आरोपियों के पास से दर्जनों एटीएम कार्ड भी बरामद किये हैं ।

पुलिस लाइन कार्यालय में सोमवार को एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि सिविल लाइन पुलिस को शमशाद मार्केट स्थित देना बैंक पर संदिग्धों के होने की सूचना मिली। पुलिस ने इरफात, साजिद, नसीम उर्फ कांडा निवासी रनियाला खुर्द थाना बहीन जिला पलवल हरियाणा व इरफान निवासी गांव उमरा थाना नगीना जिला मेवात हरियाणा को मौके से पकड़ा। उनके पास से कई बैंकों के एटीएम कार्ड, तमंचा आदि बरामद हुआ।

एक शातिर रहता था केबिन में, बाकी बाहर-
आरोपियों ने बताया कि उनका एक साथी ग्राहक के आने पर एटीएम के बटन से छेड़छाड़ कर मशीन को उसे हैंग कर देता था। वह ग्राहक से कहता मेरा पैसा नहीं निकल रहा है। आप निकाल लिजिए। मशीन हैंग होने पर जब ग्राहक का पैसा भी नहीं निकलता तो एमाउंट चेक करने को कहता। इस दौरान बटन रिलीज कर दिया जाता और एमाउंट चेक होने पर रुपये निकालने को कहता। इस बार कैश निकलवा देता और पासवर्ड भी देख लेता। जब तक ग्राहक कैश गिनता तब तक शातिर उसका एटीएम कार्ड बदल देता। ग्राहक दोबारा कैश निकालने की कोशिश करता तो फिर बटन से छेड़छाड़ कर मशीन हैंग कर दी जाती। ग्राहक के जाने के बाद शातिर खाते से रुपये पार कर देता था।

एएमयू छात्र को ले गए थे कार में डालकर-
एसएसपी ने बताया कि एएमयू छात्र सरकार मेहंदी 13 जून को शमशाद मार्केट के एटीएम से रुपये निकालने आया था। तब इन्हीं शातिरों ने खुद को पुलिस वाला बताकर पकड़ा उस पर एटीएम कार्ड बदलने का आरोप लगाते हुए कार में डाल ले गए। बाद में तमंचा दिखाकर उससे एक लाख रुपये देने को कहा। रसलगंज में उसके एटीएम से 700 रुपये निकाले थे। शोर मचाने पर शातिर भाग गए थे। गिरोह अंतरराज्यीय है और अलीगढ़ के साथ ही दिल्ली के मानेसर, गुड़गांव, जयपुर, भिवाड़ी राजस्थान, हैदराबाद, बेंग्लुरु में वारदात को अंजाम दे चुका है।

दी जाती है ट्रेनिंग, फ्लाइट से जाते थे।-
अभियुक्तों ने बताया कि उनके गांव रनियाला खुर्द में काफी लोग एटीएम बदलकर रुपये पार करने का काम करते हैं। गांव का ही तैयब हुसैन नाम का युवक प्रशिक्षण देता था। वह नए सदस्यों को शामिल कर उन्हें ट्रेंड करता। सदस्य वारदात के लिए बेंग्लुरु, हैदराबाद, दिल्ली के लिए फ्लाईट से जाते हैं। होटलों में रुकते और वारदात को अंजाम देते। आसपास के शहरों में वे किराए पर कार लेकर जाते हैं। अलीगढ़ भी किराए की कार लेकर आए थे। कार चालक को भी गिरोह में शामिल कर लिया था।

ये हुई बरामदगी-
इरफात से 23 एटीएम कार्ड, 5200 की नगदी व 220 ग्राम डायजापाम, साजिद से 24 कार्ड, 5200 रुपये 240 ग्राम डायजापाम, इरफान से 14 कार्ड, एक तमंचा, दो कारतूस, 5100 रुपये व नसीम से 15 कार्ड, 5200 रुपये व 240 ग्राम डायजापाम बरामद हुआ है। अभियुक्तों के खिलाफ भरपुर के थाना जुरैरा, अलीगढ़ के थाना सिविल लाइन में आठ मुकदमे लूट, धोखाधड़ी, एनडीपीएस, आर्म्स एक्ट आदि के दर्ज हैं। पुलिस स्टेशन चौपान की रेवाड़ी राजस्थान, सीआईए सेक्टर 46 में भी दर्जनों केस दर्ज हैं।

टीम में ये रहे शामिल-
टीम में सिविल लाइन इंस्पेक्टर विनोद कुमार, एसआई मुकेश बाबू, अफसर खान, कांस्टेबिल शरी अंसारी व प्रशांत कुमार शामिल रहे।