बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
April 16, 2024
उत्तर प्रदेश ब्रेकिंग न्यूज़ राष्ट्रीय

UP में कट्टर हिंदुत्व की आक्रमकता से चुनाव लड़ेगी BJP, मोदी के साथ योगी होंगे चेहरा !

  • September 25, 2021
  • 0 min read
UP में कट्टर हिंदुत्व की आक्रमकता से चुनाव लड़ेगी BJP, मोदी के साथ योगी होंगे चेहरा !

लखनऊ | भाजपा ने यूपी में अपनी रणनीति को अंतिम रूप दे दिया है | भाजपा यूपी विधानसभा का आगामी चुनाव हिंदू समाज को एकजुट कर आक्रामक तरीके से लड़ेगी। लखनऊ में शुक्रवार को प्रदेश के चुनाव प्रभारी व केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद की मौजूदगी में की गई घोषणा से यह पूरी तरह साफ हो गया। यह भी स्पष्ट हो गया कि भाजपा अब उन कुछ अन्य दलों से और गठबंधन कर सकती है जो हिंदुओं के किसी छोटे वर्ग या जाति का नेतृत्व करते हैं।

बीते कुछ माह से जारी तमाम अटकलों के बावजूद यह लगभग तय था कि भाजपा प्रदेश में 2022 का चुनाव योगी के नाम और काम पर ही लड़ेगी। पर, इसकी औपचारिक घोषणा कराकर केंद्रीय नेतृत्व ने हाल ही में कुछ भाजपा शासित राज्यों में हुए नेतृत्व परिवर्तन की राह पर यूपी को लेकर चल रही अटकलों पर पूरी तरह विराम लगा दिया है। साथ ही उन सभी को योगी के नेतृत्व व क्षमता पर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व का पूरा भरोसा होने का संदेश दे दिया है जो कई तरह के अटकलों के जरिए भाजपा के खिलाफ सियासी असमंजस का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे थे। ऐसा करके नेतृत्व ने एक तरह से जनता के मन में हिंदुत्व के मुद्दे पर पैदा की जा रही उन दुविधाओं को भी दूर करने की कोशिश की है जिन्हें कुछ लोग हवा दे रहे थे। जाहिर है कि पार्टी कार्यकर्ता और नेता अब पूरी ताकत से एकजुट होकर स्पष्ट एजेंडे के साथ चुनावी मैदान में विपक्ष पर हमला बोल सकेंगे।

योगी के नेतृत्व में विधानसभा का चुनाव लड़ने की घोषणा काफी अहम है। पार्टी के पुराने लोग बताते हैं कि जनसंघ काल की बात छोड़ दें तो संभवत: पहली बार भाजपा संभावित मुख्यमंत्री के नाम और चेहरे की औपचारिक घोषणा करके चुनाव मैदान में उतर रही है। अब तक यह तो देखा गया था कि भाजपा के किसी नेता के कद और पद को देखते हुए पार्टी कार्यकर्ता व जनता यह मान लेती थी कि चुनाव जीतने पर अमुक व्यक्ति मुख्यमंत्री हो सकता है, लेकिन पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की तरफ से चुनाव से पहले इसकी औपचारिक घोषणा पहली बार हुई है। यहां तक राम जन्मभूमि आंदोलन के नायक माने जाने और हिंदूवादी चेहरा होने के बावजूद कल्याण सिंह को भी कभी चुनाव से पहले भावी मुख्यमंत्री का चेहरा बनाकर भाजपा चुनाव मैदान में नहीं उतरी। जाहिर है कि योगी को पार्टी का चुनावी चेहरा घोषित कर चुनावी मैदान में उतरने की घोषणा भाजपा के लिहाज से बड़ा संदेश व संकेत है।