बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
May 26, 2024
उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश ब्रेकिंग न्यूज़

नुमाइश परिसर में गंदगी व जलभराव देखकर डीएम को आया गुस्सा

  • December 16, 2021
  • 0 min read
नुमाइश परिसर में गंदगी व जलभराव देखकर डीएम को आया गुस्सा

अलीगढ़। 19 दिसंबर से आरंभ होने जा रही राजकीय औद्योगिक एवं कृषि प्रदर्शनी परिसर में कीचड़, जलभराव एवं गंदगी देखकर डीएम का पारा चढ़ गया। उन्होंने संबंधित अफसरों से जवाब तलब करते हुए 17 दिसंबर तक सभी व्यवस्थाएं पूर्ण करने के आदेश जारी कर दिए। उन्होंने स्पष्ट कहा कि व्यवस्थाओं के लिए जिम्मेदार ठेकेदार गुणवत्ता एवं समयबद्धता का पालन करें। अन्यथा की स्थिति में उन्हें ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा। बाद में अफसरों की मीटिंग लेते हुए मुख्य पशु चिकित्साधिकारी समेत अन्य अफसरों की जिम्मेदारियां तय कर दीं।

जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे बुधवार सुबह नुमाइश की व्यवस्थाएं देखने पहुंची थीं। उन्होंने समूचे परिसर में पैदल घूमकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इसके बाद नुमाइश मैदान सभागार में अफसरों की बैठक लेते हुए डीएम ने आश्वस्त किया कि अलीगढ़ की ऐतिहासिक नुमाइश को पूरी भव्यता एवं सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही कोविड प्रोटोकॉल के तहत आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नुमाइश में लगने वाली दुकानें निर्धारित दर पर ही आवंटित की जाएं, कहीं कोई अवैध वसूली न हो। देश एवं प्रदेश के विभिन्न स्थानों से आने वाले दुकानदारों एवं झूले वालों को अनावश्यक रूप से परेशान न किया जाए।

उन्होंने कहा कि नुमाइश के दौरान बड़ी संख्या खानपान की दुकानें एवं स्टॉल लगेंगे। इनसे बड़ी मात्रा में वेस्ट खाद्य पदार्थ निकलेंगे। ऐसे में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी सुनिश्चित करें नुमाइश मैदान के आसपास के क्षेत्र में आवारा एवं निराश्रित जानवर और बंदर न घूमने पाएं। नुमाइश में आने वाले लोगों विशेषकर महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा एवं सुविधा का ध्यान रखा जाए। कोरोना काल के दृष्टिगत गत वर्ष की भांति इस बार भी नुमाइश के आयोजनों को सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर ऑनलाइन किया गया है। नुमाइश का आयोजन 10 जनवरी तक होना है, ऐसे में यदि समाप्ति के पूर्व आदर्श आचार संहिता लागू होती है तो शेष कार्यक्रम आदर्श आचार संहिता के अनुसार आयोजित कराए जाएं।

सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार वर्मा बताया कि नुमाइश में आगंतुकों की पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था के लिए प्रतिदिन फूड स्टालों, झूलों की चेकिंग कराते हुए उनको सर्टिफिकेट दिया जाएगा। इसके उपरांत ही संचालन की अनुमति दी जाएगी। विभिन्न मंचों पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों से पूर्व विद्युत विभाग साउंड एवं वायरिंग के संबंध में जांच कर उनको सर्टिफिकेट जारी करेंगे। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत ने बताया कि नुमाइश के सफल आयोजन के लिए पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल की नियुक्ति कर दी गयी है।

स्पेशल नाइट्स व अन्य वीवीआईपी कार्यक्रमों के लिए अतिरिक्त पुलिस एवं सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। ट्रैफिक मैनेजमेंट के लिए रूट डायवर्जन प्लान तैयार किया गया है। उन्होंने संबंधित थाना प्रभारियों को निर्देश दिए कि अपने क्षेत्र में भ्रमणशील रहते हुए ट्रैफिक व्यवस्था पर भी पैनी नजर रखें। बैठक में सीडीओ अंकित खंडेलवाल, एडीएम प्रशासन डीपी पाल, एडीएम वित्त विधान जायसवाल समेत पुलिस एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।