बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
June 14, 2024
छत्तीसगढ़ दिल्ली-एनसीआर पंजाब ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति राष्ट्रीय

पंजाब सीएम चन्नी बयान: ‘सुरक्षा में चूक नहीं हुई, किसानों पर लाठी नहीं चलवा सकते थे, खेद है कि उन्‍हें लौटना पड़ा’

  • January 5, 2022
  • 1 min read
पंजाब सीएम चन्नी बयान: ‘सुरक्षा में चूक नहीं हुई, किसानों पर लाठी नहीं चलवा सकते थे, खेद है कि उन्‍हें लौटना पड़ा’

चंडीगढ़। पंजाब दौर पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक मामले पर मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का बयान आया है। उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर कहा कि मुझे खेद ही कि प्रधानमंत्री को लौटना पड़ा। हम अपने पीएम का सम्मान करते हैं। हमने उनसे (पीएमओ) खराब मौसम की स्थिति और विरोध के कारण यात्रा रद्द करने के लिए कहा था। हमें उनके (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) अचानक मार्ग परिवर्तन की कोई सूचना नहीं थी। पीएम के दौरे के दौरान सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई। प्रधानमंत्री के काफिले को उस जगह से पहले ही रोक दिया गया था जहां प्रदर्शनकारी बैठे थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक पर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सफाई दी। उन्होंने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों के हवाले पूरा कार्यक्रम था। हमने किसानों को रात तक रास्ते से हटाया। लेकिन उन्होंने कहा कि जब पीएम मोदी से मिलने दिया जाएगा तभी रास्ता खाली करेंगे। रात दो बजे हमने आईबी के निदेशक से बात की। खराब हालात के बारे में उनकी राय पूछी। सीएम चन्नी ने यह भी कहा कि सुरक्षा को लेकर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। पीएम के लिए कोई खतरा नहीं था। प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री से मिलना चाहते थे।

सीएम चन्नी ने कहा कि रात तीन बजे तक सड़क खाली कराया। अचानक कुछ लोग सड़क पर आ गए। लेकिन पीएम की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई। चूक को तोड़ा-मरोड़ा गया है। लोग शांति पूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शनकारियों को हटाने में कुछ समय तो लगता है। मैं किसानों पर लाठीचार्ज नहीं करवा सकता। अगर सुरक्षा में चूक हुई है तो हम जांच करवाएंगे। सीएम चन्नी ने यह भी स्पष्ट किया कि किसी भी अधिकारी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा का पूरा इंतजाम था। प्रशासन ने रास्ते खाली कराने की पूरी कोशिश की।

किसान पिछले एक साल से शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे हैं। मैं किसानों पर लाठीचार्ज नहीं करवा सकता। हमने पूरी रात किसानों से बात की जिसके बाद उन्होंने अपना आंदोलन समाप्त कर दिया। आज अचानक फिरोजपुर जिले में कुछ आंदोलनकारी एकत्र हो गए। हमने उनसे (पीएमओ) खराब मौसम की स्थिति और विरोध के कारण यात्रा रद्द करने के लिए कहा था। हमें उनके (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) अचानक मार्ग परिवर्तन की कोई सूचना नहीं थी। पीएम के दौरे के दौरान सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई।चरणजीत सिंह चन्नी, मुख्यमंत्री पंजाब

प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री से मिलने वाले लोगों का मंगलवार को कोरोना टेस्ट किया गया। मेरे ऑफिस के दो लोग संक्रमित मिले थे। यही वजह है कि मैं पीएम मोदी के कार्यक्रम में नहीं पहुंचा। हम अपने पीएम का सम्मान करता हूं। वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सुरक्षा चूक से इनकार किया और कहा कि प्रधानमंत्री की सड़क से यात्रा करने की योजना अंतिम समय में बनाई गई थी। मैं कल देर रात तक उनकी रैली की सुरक्षा व्यवस्था देख रहा था। पीएम की सड़क से यात्रा की योजना अंतिम समय में बनाई गई थी, उन्हें पहले हेलीकॉप्टर से यात्रा करनी थी।

पंजाब के मंत्री राजकुमार वेरका ने कहा कि पीएम के आज के पंजाब दौरे के दौरान सुरक्षा इंतजामों में कोई कमी नहीं आई। सुरक्षा भंग के आरोप निराधार हैं। सच तो यह है कि भाजपा की रैली फ्लॉप शो रही। जब पीएम को यह पता चला तो उन्होंने लौटने का फैसला किया।