बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
April 23, 2024
उत्तर प्रदेश दिल्ली-एनसीआर ब्रेकिंग न्यूज़ राष्ट्रीय

PM ने अलीगढ को दिया यूनिवर्सिटी और डिफेन्स कैरिडोर का तोहफा, स्वागत में उमड़ा सैलाब, मोदी बोले- ‘घर की सुरक्षा करते हैं अलीगढ़ के ताले, अब देश की सुरक्षा करेंगे यहां बने रक्षा उपकरण’

  • September 15, 2021
  • 1 min read
PM ने अलीगढ को दिया यूनिवर्सिटी और डिफेन्स कैरिडोर का तोहफा, स्वागत में उमड़ा सैलाब, मोदी बोले- ‘घर की सुरक्षा करते हैं अलीगढ़ के ताले, अब देश की सुरक्षा करेंगे यहां बने रक्षा उपकरण’

अलीगढ | छात्रों के लम्बे संघर्ष के बाद आखिकार अलीगढ में राजकीय यूनिवर्सिटी की नींव पढ़ ही गई | प्रधानमंत्री मोदी ने खुद विवि का शिलान्यास किया | राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम में आए प्रधानमंत्री मोदी ने इस अवसर को ऐतिहासिक बताया। डिफेंस कॉरिडोर के अलीगढ़ नोड की प्रगति का अवलोकन करने के बाद उन्होंने कहा कि अलीगढ़ के ताले घरों और दुकानों की सुरक्षा करते हैं, लेकिन अब यहां बने रक्षा उपकरण देश की सीमाओं की सुरक्षा करेंगे। यही अलीगढ़ की बदली हुई नई पहचान होगी। प्रधानमंत्री ने राज्य विश्वविद्यालय को प्रतिरक्षा तकनीक के क्षेत्र का आगामी महत्वपूर्ण केंद्र बताया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय आधुनिक शिक्षा का एक बड़ा केंद्र तो बनेगा ही, साथ ही देश में डिफेंस से जुड़ी पढ़ाई, डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग से जुड़ी टेक्नोलॉजी और मैनपावर बनाने वाला सेंटर भी बनेगा। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में जिस तरह शिक्षा, कौशल और स्थानीय भाषा में पढ़ाई पर बल दिया गया है, उससे इस विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को बहुत लाभ होगा। अपनी सैन्य ताकत को मजबूत करने के लिए आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ रहे भारत के प्रयासों को इस विश्वविद्यालय की पढ़ाई नई गति देगी। आज देश ही नहीं दुनिया भी देख रही है कि आधुनिक ग्रेनेड और रायफल से लेकर लड़ाकू विमान, ड्रोन, युद्धपोत भारत में ही निर्मित करने का अभियान चल रहा है। भारत दुनिया के एक बड़े डिफेंस आयातक की छवि से बाहर निकलकर दुनिया के एक अहम डिफेंस निर्यातक की नई पहचान बनाने के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है। भारत की इस बदलती पहचान का बड़ा केंद्र हमारा उत्तर प्रदेश बनने वाला है। यूपी के सांसद के नाते मुझे इस बात का विशेष गर्व है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह देश की आजादी के लिए ही नहीं लड़े, उन्होंने भारत के भविष्य के निर्माण में भी सक्रिय योगदान दिया था। उन्होंने अपनी देश विदेश की यात्राओं से मिले अनुुभव का उपयोग भारत की शिक्षा व्यवस्था को आधुनिक बनाने के लिए किया। वृंदावन में आधुनिक टेक्निकल कॉलेेज अपने संसाधनों से पैतृक संपत्ति को दान करने बनवाया। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए भी राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने जमीन दी थी। आज आजादी के इस अमृत काल में जब 21 वीं सदी का भारत शिक्षा और कौशल के नए दौर की तरफ बढ़ चला है, तब मां भारती के ऐसे अमर सपूत के नाम पर इस विश्वविद्यालय का निर्माण उनको सच्ची कार्यांजलि है। इस विचार को साकार करने के लिए योगी और उनकी पूरी टीम को बहुत बहुत बधाई।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार ने अलीगढ़ के तालों और हार्डवेयर को एक नई पहचान दिलाने का काम किया है। इससे युवाओं के लिए एमएसएमई में कई अवसर पैदा हो रहे हैं। अब डिफेंस इंडस्ट्री के जरिये भी यहां के मौजूदा उद्यमियों को विशेष लाभ होगा। नए एमएसएमई के लिए भी प्रोत्साहन प्राप्त होगा। जो छोटे उद्यमी हैं, उनके लिए भी डिफेंस कॉरिडोर का अलीगढ़ नोड मौके बनाएगा। डिफेंस कॉरिडोर के लखनऊ नोड में दुनिया की सबसे बेहतरीन मिसाइल ब्रह्मोस का निर्माण भी प्रस्तावित है। इसके लिए अगले कुछ सालों में नौ हजार करोड़ रुपये निवेश किया जाएगा। झांसी नोड में एक और मिसाइल मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी बड़ी यूनिट लगने का प्रस्ताव है। यूपी डिफेंस कॉरिडोर ऐसे ही बड़े निवेश और रोजगार के अवसर लेकर आ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज यूपी देश और दुनिया के हर छोड़े-बड़े निवेशक के लिए आकर्षक स्थान बनता जा रहा है। यह तब होता है, तब निवेश के लिए जरूरी माहौल बनता है। जरूरी सुविधाएं मिलती हैं। आज यूपी डबल इंजन सरकार के डबल लाभ का बहुत बड़ा उदाहरण है। योगी और उनकी पूरी टीम ने सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के मंत्र पर चलते हुए यूपी को नई भूमिका के लिए तैयार किया है। अब सबके प्रयास से इसे और आगे भी बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि समाज में विकास के अवसरों से जिनको दूर रखा गया, ऐसे हर समाज को शिक्षा और सरकारी नौकरियों में अवसर दिए जा रहे हैं। आज यूपी की चर्चा बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर और बड़े फैसलों के लिए होती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं को राजा महेंद्र प्रताप सिंह के जीवन और संघर्ष से प्रेरणा लेने की बात कही। राजा महेंद्र प्रताप के साथ स्वाधीनता संग्राम में उनके सहयोगी रहे गुजरात के क्रांतिकारी श्याम जी कृष्ण वर्मा का भी जिक्र किया। साथ ही 11 वीं शताब्दी में महमूद गजनवी के सेनापति मियां गाजी को हराने वाले श्रावस्ती के राजा सुहेलदेव के संबंध में कहा कि आजादी के 75वें वर्ष का पर्व मानते समय ऐसे राष्ट्रनायकों के योगदान को भी वह नमन करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि महाराजा सुहेल देव जी हों, दीनबंधु चौधरी छोटूराम हों या फिर राजा महेंद्र प्रताप सिंह हों, राष्ट्र निर्माण में इनके योगदान से नई पीढ़ी को परिचित कराने का ईमानदार प्रयास आज देश में हो रहा है। उन्होंने कहा कि आज जब देश अपनी आजादी के 75 वर्ष का पर्व मना रहा है तो इन कोशिशों को और गति दी गई है। भारत की आजादी में राजा महेंद्र प्रताप सिंह के योगदान को नमन करने का यह प्रयास ऐसा ही पावन अवसर है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश के हर उस युवा को, जो बड़े सपने देख रहा है, जो बड़े लक्ष्य पाना चाहता है, उसे राजा महेंद्र प्रताप सिंह के विषय में अवश्य जानना चाहिए, अवश्य पढ़ना चाहिए।

राजा महेंद्र प्रताप सिंह की अदम्य इच्छा शक्ति, अपने सपनों को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुजरने वाली जीवटता आज भी हमें प्रेरित करती है। उन्होंने अपने जीवन का एक-एक पल देश की आजादी के लिए समर्पित कर दिया। पीएम मोदी ने युवाओं से कहा कि जब भी उन्हें कोई लक्ष्य कठिन लगे, कुछ मुश्किलें नजर आएं, तो वे राजा महेंद्र प्रताप सिंह को जरूर याद कर लें। इससे उनका हौसला बुलंद हो जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के एक और महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, गुजरात के सपूत श्याम जी कृष्ण वर्मा का भी स्मरण हो रहा है। प्रथम विश्वयुद्ध के समय राजा महेंद्र प्रताप विशेष तौर पर श्याम जी वर्मा और लाला हरदयाल से मिलने के लिए यूरोप गए। उसी बैठक में जो दिशा तय हुई, उसका परिणाम हमें अफगानिस्तान में भारत की पहली निर्वासित सरकार के तौर पर देखने को मिला। इस सरकार का नेतृत्व राजा महेंद्र प्रताप ने ही किया। यह मेरा सौभाग्य था कि जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था, तब श्याम जी वर्मा की अस्थियों को 72 साल बाद भारत लाने में सफलता मिली। अगर आपको कच्छ जाने का मौका मिले तो वहां मांडवी में उनका बहुत प्रेरक स्मारक है। वहां उनके 80 कलश रखे हैं, जो मां भारती के लिए जीने की प्रेरणा देते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे फिर से एक बार फिर से यह सौभाग्य मिला है कि राजा महेंद्र प्रताप जैसे विजनरी और महान स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर बन रही यूनिवर्सिटी का शिलान्यास कर रहा हूं। ऐसे पवित्र अवसर पर आप बड़ी संख्या में आशीर्वाद देने आए हैं। जनता जनार्दन का दर्शन करना शक्ति दायक होता है।