बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
May 26, 2024
उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश दिल्ली-एनसीआर ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति

विधानसभा चुनाव: मेरे साथ चल रहे पुलिसवाले मुझे गोली मार सकते हैं, आजम खान के बेटे अब्‍दुल्‍ला आजम को सता रहा डर

  • January 29, 2022
  • 1 min read
विधानसभा चुनाव: मेरे साथ चल रहे पुलिसवाले मुझे गोली मार सकते हैं, आजम खान के बेटे अब्‍दुल्‍ला आजम को सता रहा डर

लखनऊ। जेल से बाहर आने के बाद से अब्दुल्ला लगातार भाजपा सरकार पर निशाना साधते रहे हैं। फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाने और पेश करने के आरोप में अब्दुल्ला आजम खान पर केस दर्ज हुआ था, इसके बाद से ही वे सीतापुर जेल में बंद थे। समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला खान ने बड़ा बयान दिया है। अब्दुल्ला आजम ने कहा है कि उनकी सुरक्षा में जो पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं, उनपर उन्हें भरोसा नहीं है। उन्होंने यह भी आशंका जताई है कि उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी ही उनको गोली मार सकते हैं।

अब्दुल्ला आजम ने कहा कि उनकी सुरक्षा उनकी मालिक कर रहा है और वे बिल्कुल अकेले हैं। उन्होंने आरोप लगाया, “वे पुलिसकर्मी मेरी सुरक्षा के लिए नहीं, बल्कि मेरी रेकी करने के लिए लगाए गए हैं कि मैं कहां पर हूं और किससे मिल रहा हूं।” अब्दुल्ला ने कहा, “आपके साथ अधिकारी हैं, आपके साथ पुलिस है। मैं अकेला हूं, मेरे साथ तो कोई भी नहीं है। मेरे साथ तो जो पुलिसवाले चल रहे हैं, उनपर ही भरोसा नहीं है, कि वही किसी चीज में रख दें, वही गोली मार दें, मैं तो अकेला हूं।”

समाजवादी पार्टी ने अब्दुल्ला आजम खान को स्वार टांडा से विधानसभा चुनाव में टिकट दिया है जबकि, उनके पिता आजम खान को रामपुर शहर से उम्मीदवार बनाया है। जेल से बाहर आने के बाद से अब्दुल्ला लगातार भाजपा सरकार पर निशाना साधते रहे हैं। फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाने और पेश करने के आरोप में अब्दुल्ला आजम खान पर केस दर्ज हुआ था, इसके बाद से ही वे सीतापुर जेल में बंद थे।

इसके पहले भी अब्दुल्ला आजम खान ने कहा था कि उनके पिता आजम खान जेल में बेहद खराब हालत में हैं और यहां तक ​​कि उनकी मेडिकल जरूरतों का भी ठीक से ध्यान नहीं रखा गया। अब्दुल्ला ने कहा था कि उनके पिता को कोरोना हुआ था लेकिन 9 दिन बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, ऐसे में उनके पिता मरते-मरते बचे थे। अब्दुल्ला ने कहा था कि उनके पिता को सी-क्लास जेल में रखा गया है और वह 8 बाय 8 की कोठरी में बंद हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी से 7 मार्च तक 7 चरणों में मतदान होंगे और वोटों की गिनती 10 मार्च को की जाएगी। रामपुर जिले में 5 विधानसभाएं हैं। यहां चुनाव दूसरे चरण में 5 सीटों पर 14 फरवरी को मतदान होंगे।