बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
February 24, 2024
उत्तराखंड दिल्ली-एनसीआर राष्ट्रीय

हरिद्वार में भड़काऊ भाषण देने वालों के साथ हंसता नजर आया पुलिसकर्मी, धार्मिक नेता ने बोली यह बात

  • December 29, 2021
  • 1 min read
हरिद्वार में भड़काऊ भाषण देने वालों के साथ हंसता नजर आया पुलिसकर्मी, धार्मिक नेता ने बोली यह बात

नई दिल्ली। उत्तराखंड के हरिद्वार में हुई धर्म संसद के विवादों में आने के बाद वसीम रिज़वी(जितेंद्र नारायण त्यागी), जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी यति नरसिंहानंद, स्वामी अमृतानंद व अन्य लोगों ने अपनी जान का खतरा बताते हुए हरिद्वार पुलिस को एक तहरीर सौंपी है। उन्होंने आरोप लगाया कि मस्जिदों के इमाम और मौलवी हिंदुओं के खिलाफ साजिश कर रहे हैं और उन्हें दंडित किया जाना चाहिए।

बता दें तहररी सौंपने का एक वीडियो भी सामने आया है। जिसमें तहरीर लेते वक्त वहां मौजूद लोग समेत पुलिस अधिकारी हंसते हुए नजर आ रहे हैं। तहरीर देने के दौरान वहां हर हर महादेव के नारे भी लगते सुनाई दे रहे हैं। वीडियो में पुलिस अधिकारी राकेश कथैट कई संतों से घिरे हुए हैं और संत कहते दिख रहे हैं कि हमारी तहरीर पर आप मुकदमा दर्ज करें और समाज में संदेश दें कि आप निष्पक्ष हैं। पूजा शकुन पांडे उर्फ ​​​​”साध्वी अन्नपूर्णा” वीडियो में कहती दिख रही हैं, “आपको एक संदेश देना चाहिए कि आप पक्षपाती नहीं हैं। आपको सभी के साथ समान व्यवहार करना चाहिए। हम आपसे यही उम्मीद करते हैं। आपकी सदा ही जय हो।”

‘लड़का हमारी तरफ होगा’: तभी वीडियो में यति नरसिंहानंद कहते दिख रहे हैं कि “निष्पक्ष क्यों होगा, लड़का हमारी तरफ होगा।” जिसके बाद वहां मौजूद लोग हंस पड़ते हैं।गौरतलब है कि हरिद्वार में 17 से 19 दिसंबर को एक धर्म संसद का आयोजन किया गया था। इस धर्म संसद में धर्म विशेष समुदाय के खिलाफ कुछ ऐसे बयान दिए गए जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इसके आधार पर वसीम रिज़वी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी और अन्य दो साधुओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 153 क (धार्मिक उन्माद फैलाने) के अंतर्गत हरिद्वार कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया था। वहीं इसके जवाब में धर्म संसद आयोजन करने वाले संतों ने अपनी तहरीर में अपनी जान का खतरा बताया है।

जितेंद्र नारायण त्यागी ने शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि मस्जिदों के इमाम और अन्य लोग जो हमारी हत्या कराना चाहते है और हमारे ऊपर हमले का प्रयास भी कर चुके है। हमने उन सब के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का पुलिस से निवेदन किया गया है। वहीं सीओ सिटी नगर शेखर सुयाल ने जानकारी दी कि साधु संतों की तहरीर को लेकर हर बिंदु पर जांच के आदेश दिए गए है। निष्कर्ष निकलने के बाद मुकदमा दर्ज किया जाएगा और आगे की कार्रवाई होगी।

धर्म संसद को लेकर विवादित बयान: आरोप के मुताबिक महासभा में निरंजनी अखाड़ा महामंडलेश्वर अन्नपूर्णा मां सभा को संबोधित करते हुए विशेष संप्रदाय के खिलाफ कहा था कि हम सब मिलकर इनके 20 लाख मार देंगे तो विजयी कहलाएंगे। कॉपी किताब रखो और हाथ में शस्त्र उठा लो। बता दें कि हरिद्वार में 17 से 19 दिसंबर को एक धर्म संसद का आयोजन किया गया था। जिसमें मुसलमानों के खिलाफ विवादित टिप्पणी की गई थी। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।