बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
June 14, 2024
उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय

अग्निपथ विरोध : अलीगढ बवाल में अबतक 4 FIR, 35 गिरफ्तार

  • June 18, 2022
  • 1 min read
अग्निपथ विरोध : अलीगढ बवाल में अबतक 4 FIR, 35 गिरफ्तार

अलीगढ़। अग्निपथ योजना के खिलाफ एक्सप्रेस-वे, टप्पल-जट्टारी मार्ग पर हुए उपद्रव में पुलिस ने शनिवार तडके तीन और मुकदमें दर्ज कर लिये है। इनमें एक मुकदमे रोडवेज, दूसरा जट्टारी चौकी के सिपाही व तीसरा जट्टारी चेयरमैन की ओर से दर्ज कराया गया है। पुलिस का गिरफ्तार अभियान जारी है। टप्पल में हुए उपद्रव में पुलिस अधिकारियों ने कडी कार्रवाई करते हुए कई मुकदमें दर्ज किये है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि शनिवार तडके तीन और मुकदमें दर्ज कर लिये गये है। एक मुकदमें पहलेे ही पुलिस की ओर से दर्ज किया गया था। जिसमें 40 प्रदर्शनकारियों को नामजद किया गया था।

पुलिस टीमें अभी तक 35 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। एसएसपी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के लिए दबिशें जारी है। 10 टीमों को दबिश देने के लिए लगाया गया है। पुलिस टीमों द्वारा जनपद की शांति व्यवस्था भंग करने एवं सरकारी सम्पत्ति को क्षति पहुंचाने वाले उपद्रवियों को सीसीटीवी फुटेज व सोशल मीडिया के माध्यम से चिन्हित कर उनकी धनपकड की जा रही है। उनके विरुद्ध अबतक चार अभियोग दर्ज कर 35 से अधिक उपद्रवियों को गिरफ्तार कर कड़ी दण्डात्मक कार्यवाही की जा रही है । शेष उपद्रवियों की पहचान व धरपकड़ जारी है। एसएसपी अलीगढ कलानिधि नैथानी का टप्पल में हुए उपद्रव के बाद पूरा जोर कम्यूनिटी पुलिसिंग पर है। वह कस्बे की जनता से स्वयं संपर्क में है।

एसएसपी अलीगढ़ की ओर से लोगों से कम्यूनिटी पुलिसिंग के तहत पुलिस प्रशासन के साथ सहयोग करने, बहकावे में न आने व अफवाहों से दूर रहने की अपील की जा रही है। जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधी नैथानी ने टप्पल व जट्टारी में कई जगहों भ्रमण किया। अधिकारियों ने नवयुवकों और उनके अभिभावकों से अग्निपथ योजना के विरोध प्रदर्शन में शामिल न होने की अपील की।

डीएम व एसएसपी ने शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। चाक चौबन्द सुरक्षा व्यवस्था सुनश्चित करने के दिशा नर्दिेश दिये। संवेदनशील इलाकों में भारी संख्या में पुलिस फोर्स मुस्तैद किया गया है। अधिकारी सुबह से ही थाना खैर व थाना टप्पल क्षेत्र में शांति एवं कानून व्यवस्था का जायजा लेकर सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत संवेदनशील क्षेत्रों में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। ड्यूटी में लगे फोर्स को शांति एवं कानून व्यवस्था भंग करने वाले अराजक तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।