बेबाक, निष्पक्ष, निर्भीक
July 20, 2024
उत्तर प्रदेश ब्रेकिंग न्यूज़ राष्ट्रीय

अग्निपथ विरोध : अलीगढ में तनावपूर्ण शांति, युवाओं ने शुक्रवार को फूंक दी थी जट्टारी पुलिस चौकी, छीन लिया था ADM का मोबाईल

  • June 18, 2022
  • 1 min read
अग्निपथ विरोध : अलीगढ में तनावपूर्ण शांति, युवाओं ने शुक्रवार को फूंक दी थी जट्टारी पुलिस चौकी, छीन लिया था ADM का मोबाईल

अलीगढ | शनिवार को अलीगढ के जट्टारी क्षेत्र में तनावपूर्ण शांति रही | शुक्रवार को हुए बवाल के बाद पूरा प्रशासन क्षेत्र में ही लगा रहा | बताते चलें कि सेना में भर्ती की नई योजना अग्निपथ के विरोध में शुक्रवार को अलीगढ़ में जमकर बवाल हुआ था । शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे शुरू हुआ बवाल शाम साढ़े चार बजे के बाद तक जारी रहा। यमुना एक्सप्रेस-वे और टप्पल-जट्टारी क्षेत्र अग्निपथ में तब्दील हो गया। योजना का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने पुलिस चौकी जट्टारी को फूंक दिया। चौकी में खड़े कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

जट्टारी पुलिस चौकी के बाहर खड़ी दरोगा की कार में आग लगा दी गई। चेयरमैन की गाड़ी भी फूंक दी गई। यमुना एक्सप्रेसवे व इंटरचेंज पर पुलिस-प्रशासन के वाहनों सहित दर्जनों यूपी व हरियाणा रोडवेज बसों में तोड़फोड़ व आगजनी की गई। बवाल में सीओ खैर सहित कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। आउट ऑफ कंट्रोल हुई भीड़ को तितर बितर करने पहुँचे DM-SSP से भी हालात नहीं संभले। पुलिस की मौजूदगी में पुलिसकर्मियों से अभद्रभाषा व हाथपाई हुई। अलीगढ़ पुलिस इस दौरान मूकदर्शक बनी रही।जट्टारी में डीएम-एसएसपी पथराव में जान बचाकर भागे। आसू गैस के गोले दागकर किसी तरह उपद्रवियों को रोका गया। एसएसपी को अफसरों की जान बचाने को खेतों से होकर निकलना पड़ा। तनावपूर्ण हालात के बीच आगरा जोन के एडीजी राजीव कृष्ण भी टप्पल पहुंच गए। उनकी गाड़ी पर भी पथराव हुआ। इससे गाड़ी का शीशा टूट गया है।

अग्निपथ योजना के विरोध में अलीगढ़ में गुरुवार से ही युवाओं का प्रदर्शन शुरू हो गया था। शुक्रवार को इसने उग्र रूप धारण कर लिया। टप्पल इंटरचेंज व यमुना एक्सप्रेस-वे पर काफी संख्या में प्रदर्शनकारी एकत्रित हो गए। उग्र प्रदर्शनकारियों ने एक्सप्रेस वे पर यूपी व हरियाणा रोडवेज बसों में से सवारी उतारते हुए तोड़फोड़ कर दी। इसके चलते एक्सप्रेस-वे पर कई किमी. लंबा जाम लग गया। अलीगढ़ से नोएडा-दिल्ली जाने वाले व वहां से लौटने वाले लोग जाम में फंस गए। प्रदर्शन के उग्र रूप धारण किए जाने की सूचना पर डीएम इंद्रविक्रम सिंह, एसएसपी कलानिधि नैथानी सहित तमाम अफसर मय फोर्स के पहुंच गए। अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को काफी समझाने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं माने।

अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शनकारियों की भीड़ एकत्रित होने लगी और प्रदर्शन बढ़ता चला गया। हालात यह हो गए कि आला अधिकारियों को भी जान बचाकर निकलना पड़ गया। प्रदर्शनकारियों द्वारा किए गए पथराव में सीओ खैर सहित कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। उधर, पुलिस चौकी जट्टारी पहुंची प्रदर्शनकारियों की बेकाबू भीड़ को देखते हुए पुलिसकर्मी भाग निकले। जिसके बाद चौकी में आग लगा दी गई। आसपास की दुकानों में भी तोड़फोड़ की गई।

एडीएम प्रशासन का छीन लिया था मोबाईल-
टप्पल व जट्टारी में शुक्रवार को हुए बवाल में कई प्रशासनिक अधिकारी बाल बाल बचे। उपद्रवियों ने एडीएम प्रशासन समेत कई अधिकारियों के मोबाइल छीन लिए। उपद्रवियों के हमले में एडीएम प्रशासन चोटिल भी हुए हैं। डीएम ने सभी मजिस्ट्रेट की ड्यूटी रात को टप्पल में लगा दी है। टप्पल व जट्टारी में दिन में हुए बवाल के बाद रात को पुलिस प्रशासनिक मशीनरी ने वहां पर कैंप किया। दिन में एडीएम प्रशासन मौके पर गए थे और रात एडीएम सिटी राकेश कुमार पटेल की ड्यूटी लगाई गई। सभी मजिस्ट्रेट को टप्पल में रात्रि कैंप के डीएम निर्देश दिए।

कैरियर से न करें खिलवाड़ : डीएम
डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने कहा कि टप्पल व जट्टारी में युवाओं व कुछ आराजकतत्वों ने आगजनी की। अब तक मामले में 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया और उपद्रव करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। कोई भी युवा ऐसी हरकत नहीं करें जिससे उनका करियर बर्बाद हो जाए। पुलिस उपद्रवियों को चिन्हित करने का काम कर रही है। लगातार दबिश दी जा रही है। लोग अपने घरों से निकलकर इस तरह के मामले में शामिल नहीं हो।